1. Home
  2. Haryana News

शराब तस्कर दहिया की गिरफ्तारी के लिए जारी छापामारी: जानें जीप से रेंज रोवर तक का सफर?

शराब तस्कर दहिया

Bhupendra dahiya: हरियाणा के कुख्यात शराब तस्कर भूपेंद्र सिंह दहिया को पकड़ने के लिए पुलिस की ओर से पूरी कोशिश जारी है। 2 दिन पहले ही सोनीपत में पुलिस ने उसके 2 गोदामों से करीब 55 लाख रुपए की देसी एव अंग्रेजी शराब पकड़ी है। हत्या के प्रयास के एक मामले में पुलिस ने उसकी गिरफ्तारी पर इनाम भी रखा है।

भूपेंद्र पर अकेले शराब तस्करी के 27 केस

भूपेंद्र पर अकेले शराब तस्करी के 27 केस चल रहे हैं। वर्ष 2020 में कोरोना काल में लॉकडाउन के समय वह सील की गई करीब 1 करोड़ रुपए कीमत की शराब बेच कर चर्चा में आया था। अब पुलिस ने फोटो जारी कर लोगों से उसके बारे में सूचना देने की अपील की है। खास बात यह है कि पुलिस जिसे मोस्ट वांटेड बता रही है, वह एक दिन पहले तक पत्रकारों को फोन कर शराब तस्करी में खुद को बेगुनाह करार देकर पुलिस पर ही फंसाने का आरोप लगा रहा था। दूसरी तरफ पुलिस अधिकारियों का कहना है कि भूपेंद्र कुख्यात शराब माफिया है और 5 राज्यों में उसका कारोबार फैला हुआ है।

शराब तस्कर दहिया

शराब तस्करी से कमा चुका भारी मुनाफा

शराब तस्करी में वह अकूत संपत्ति कमा चुका है। इसका अंदाजा इसी से लगा सकते हैं कि सोनीपत के सिसाना गांव में साधारण किसान परिवार में जन्मे भूपेंद्र दहिया के पास खरखौदा में एक स्कूल है, जो उसकी मां के नाम पर है। एक ईंट भट्ठा, एक रेस्टोरेंट, खुद की जमीन, 2 लग्जरी गाड़ी हैं। वर्ष 2022 में प्रशासन ने नशे के कारोबार से खड़ी की गई उसकी संपत्ति पर बुलडोजर भी चलाया था। तब उसके 8 मकान और गोदाम तोड़े गए थे।

नामी-बेनामी संपत्ति का पता लगा रहा प्रशासन

सोनीपत में अक्टूबर, 2022 में पुलिस ने शराब तस्करी से कमाई भूपेंद्र सिंह की संपत्ति पर बुलडोजर चलाया था। तब उसके 8 मकान व गोदाम ध्वस्त किए गए थे। अब प्रशासन एक बाद फिर उसकी नामी-बेनामी संपत्ति का पता लगा रहा है। सोनीपत में अक्टूबर, 2022 में पुलिस ने शराब तस्करी से कमाई भूपेंद्र सिंह की संपत्ति पर बुलडोजर चलाया था। तब उसके 8 मकान व गोदाम ध्वस्त किए गए थे। अब प्रशासन एक बाद फिर उसकी नामी-बेनामी संपत्ति का पता लगा रहा है।

ऐसे आया पुलिस के रडार पर...

शराब तस्कर भूपेंद्र दहिया अचानक ही सोनीपत पुलिस के लिए खास क्यों हो गया है, इस पर गौर करें तो पता चलता है कि 3 अप्रैल को सोनीपत के पुलिस कमिश्नर बी सतीश बालन ने लोकसभा चुनाव के मद्देनजर सोनीपत पुलिस के सभी अधिकारियों, क्राइम यूनिट इंचार्ज व थाना प्रबंधकों की मीटिंग ली थी। इसमें अवैध शराब के तस्करों पर लगाम लगाने पर चर्चा हुई। इसमें पता चला कि चुनाव की घोषणा होते ही तस्कर इस धंधे में अधिक मुनाफा कमाने के लिए उतर आए हैं।

Around The Web

Trending News

Latest News

You May Also Like