1. Home
  2. Haryana News

पानीपत: रजिस्ट्री के नाम पर धोखाधड़ी, बैनर और ढोल के जरिए विरोध प्रदर्शन, जानें पूरा मामला

पानीपत: रजिस्ट्री के नाम पर धोखाधड़ी

Panipat dhokhadhadi: पानीपत शहर के कृष्णपुरा में फैक्ट्री मालिक ने दूसरी फैक्ट्री मालिक के खिलाफ लेन-देन के विवाद का अनोखा विरोध किया। यहां रजिस्ट्री के नाम पर रुपए लेने के बाद न ही रजिस्ट्री करवाई और न ही रुपए वापस लौटाए। जिसके बाद दोनों पक्षों में कहासुनी भी हुई।

पूरी राशि वापस न मिलने पर रुपए देने वाले फैक्ट्री मालिक ने बैनर और ढोल के साथ अपना विरोध जाहिर किया। पैसे लेने वाले की फैक्ट्री के बाहर ढोल बजवाए और बैनर लगाकर उस पर तंज कसा। दोनों पक्षों ने मामले की शिकायत पुलिस को भी दी है।

पानीपत: रजिस्ट्री के नाम पर धोखाधड़ी

इस बारे में पुलिस जांच अधिकारी SI सुभाष चंद का कहना है कि एक पक्ष ने धोखाधड़ी की शिकायत दी है। जबकि दूसरे पक्ष ने फैक्ट्री में घुसकर रुपए छीनने का आरोप लगाया है। मामले की जांच जारी है। पुख्ता सबूतों के साथ आगामी कानूनी कार्रवाई अमल में लाई जाएगी।

प्रदर्शन वाला पक्ष बोला- 7.80 लाख लौटाए, बाकी नहीं दिए

कृष्णपुरा चौकी पुलिस को दी शिकायत में सौरव गर्ग ने बताया कि वह गौशाला मंडी का रहने वाला है। 18 मार्च 2024 उसने शिवनगर में अपनी प्रॉपर्टी की रजिस्ट्री करवाने के लिए GR मित्तल निवासी सेक्टर 25 को 12.50 रुपए दिए थे। 10 अप्रैल को मित्तल में बताया कि वह उनकी रजिस्ट्री करवाने में असमर्थ है।

इस पर उसे रुपए वापस करने को। मित्तल ने रुपए वापस लौटने के लिए 2-4 दिन का समय मांगा। 16 अप्रैल की शाम करीब 4 बजे मित्तल ने फोन कर रुपए वापस लौटाने के लिए अपनी फैक्ट्री बुलाया। सौरभ अपने पिता सतीश के साथ उसकी फैक्ट्री गए। जहां उसने रुपए देने से मना कर दिया।

इसके बाद सौरव ने मौके पर अपने ताऊ प्रेम गर्ग, और दोस्त विशाल को मौके पर बुलाया। यहां इन दोनों के साथ मित्तल ने गाली गलौज की। आरोप है कि दोस्त को जाति सूचक शब्द भी कहे। बाद में मित्तल ने 7 लाख 80 हजार वापस लौटा दिए।

जब उससे शेष रुपए मांगे तो उसने जान से मारने की धमकी देते हुए वहां से भागने को कहा। इस दौरान ताऊ की स्कॉर्पियो की चाबी उसके कार्यालय में ही रह गई। जो उसने नहीं लौटाई।

दूसरा पक्ष बोला- फैक्ट्री में घुसकर छीन ले गए रुपए

वहीं, इस मामले में दूसरे पक्ष घिघा राम का कहना है कि सभी आरोप बेबुनियाद है। हमने 15 अप्रैल की रात को पुलिस को शिकायत दी थी। जिसमें फैक्ट्री में घुसकर छीना झपटी, जान से मारने की धमकी देने की बात है। पुख्ता सबूत देने के बाद भी पुलिस ने हमारी शिकायत पर कोई कार्रवाई नहीं की है।

Around The Web

Trending News

Latest News

You May Also Like