1. Home
  2. Haryana News

पंचकूला: CM फ्लाइंग स्क्वॉयड के हाथ लगा पानीपत का फर्जी DSP: जानें कैसे हुआ करोड़ों का खुलासा ?

Panchkula farzi DSP:

Panchkula farzi DSP: सीएम फ्लाइंग स्क्वॉयड के हाथ आखिरकार पानीपत का फर्जी DSP लग ही गया। फर्जी DSP ने 11 युवाओं से करीब 1 करोड़ रुपए लेकर पुलिस में नकली जॉइनिंग करा दी। इसका खुलासा तब हुआ जब आरोपी वीरेंद्र ने बैंक में कैश सैलरी जमा कराई।

Panchkula farzi DSP:

फर्जी DSP से की लाखों की संपत्ति

नकली नौकरी पाए युवा बैंक स्टेटमेंट देखकर चौके और उन्होंने पुलिस में इसकी शिकायत की। पंचकूला में सीएम फ्लाइंग और सीआईडी की टीम ने जॉइंट ऑपरेशन चलाकर इसको गिरफ्तार किया है। आरोपी के पास से एक एक्सयूवी 300, फर्जी आई कार्ड, चेक, फर्जी जॉइनिंग लेटर, जॉइनिंग वाला फर्जी फॉर्म, पुलिस की वर्दी समेत कई सामान बरामद किए हैं। सब इंस्पेक्टर की नौकरी के लिए 20 लाख, कॉन्स्टेबल के लिए 11 लाख व होमगार्ड की नौकरी लगाने के लिए 2.50 लाख रुपए लेता था।

कमरे से मिली 3 लड़कियां, 8 लड़के

आरोपी ने गुर्जर भवन में तीन कमरे किराए पर ले रखे थे। वहां सिरसा की 3 लड़कियों व 8 लड़के भी पुलिस को मिले। जांच के अनुसार 3 लड़कियों व 4 लड़कों को कॉन्स्टेबल, 2 लड़कों को होमगार्ड व 2 लड़कों को सब इंस्पेक्टर बनाने के एवज में उनसे करीब एक करोड़ रुपए लिए थे। सभी 11 कैंडिडेट ने बताया कि वे जनवरी में आरोपी के संपर्क में आए थे। उसने खुद को पंचकूला का डीएसपी क्राइम होने की बात कह हरियाणा पुलिस में नौकरी लगवाने को कहा था ।

ऐसे हुआ फर्जीवाड़े का खुलासा

जब कैंडिडेट्स ने अपने बैंक खातों में आई सैलरी की स्टेटमेंट को चेक किया तो पता चला कि खातों में कैश जमा करवाया गया है। इस पर उन्हें फर्जीवाड़ा का पता चला और उन्होंने इसकी शिकायत पुलिस में दी। हालांकि, पुलिस टीम इस बारे में कुछ नहीं बता रही है। फर्जी आई कार्ड कैसे बनाया, जांच कर रही टीम डीएसपी सीएम फ्लाइंग स्क्वॉयड जितेंद्र सिंह ने कहा कि आरोपी से जानकारी जुटाई जा रही है कि फर्जीवाड़ा में उसके साथ कौन - कौन शामिल हैं। क्या इससे पहले भी उसने ऐसे फर्जीवाड़े को अंजाम दिया है। फर्जी अपॉइंटमेंट लेटर, आई कार्ड कहां से बनवाया था, इसका भी पता किया जा रहा है।

फर्जी एसआई के खाते में 28 हजार जमा कराई सैलरी

आरोपी ने सभी 11 कैंडिडेट को पंचकूला में पोस्टिंग दिलवाने का आश्वासन दिया था। उनसे फॉर्म भरवाए। इंस्पेक्टर के लिए करीब 11 लाख , कांस्टेबल के लिए 8 लाख व होमगार्ड के लिए 1.50 लाख रुपए लिए। बाकी पेमेंट 3 माह की सैलरी मिलने के बाद लेनी थी। हरियाणा पुलिस का फर्जी अपॉइंटमेंट लेटर, फर्जी आई कार्ड दिया और कहा कि वे हरियाणा पुलिस में भर्ती हो गए हैं। सैलरी अकाउंट भी खुलवाया। एसआई के बैंक खाते में 28 हजार व बाकियों के खातों में 20 से 25 हजार रुपए जमा कराए थे।

Around The Web

Trending News

Latest News

You May Also Like