1. Home
  2. Haryana News

दर्दनाक: रोहतक-होटल में आत्महत्या, सुसाइड नोट में पुलिसकर्मी के टॉर्चर की लिखी दास्तां

Rohtak suicide note:

Rohtak sucide note:रोहतक के होटल में व्यक्ति के आत्महत्या करने का मामला सामने आया है। मृतक के पास से 2 पेज का सुसाइड नोट मिला है।Rohtak sucide note:

सुसाइड नोट में बड़ा खुलासा

सुसाइड नोट में मृतक ने बड़ा खुलासा किया है। पुलिस कर्मचारी समेत 5 लोगों पर झूठे केस में फंसाने के नाम पर 4 लाख रुपए वसूलने के कारण आत्महत्या करने की बात लिखी है। जिससे पारिवारिक हालत खराब हुई। आरोपियों ने उसके भाई को भी झूठे केस में फंसायाा। सुसाइड नोट में इस केस को दोबारा ओपन करने और रोहतक IG से दोषियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने की मांग की गई है।

Rohtak sucide note:

होटल में फंदा लगाकर की जान

26 मार्च की रात को व्यक्ति ने दिल्ली बाइपास स्थित होटल में फंदा लगाकर जान दी थी। उसकी पहचान 44 वर्षीय विजय उर्फ काला के रूप में हुई है। बीते कल पुलिस कार्रवाई से असंतुष्ट परिजनों ने आईजी ऑफिस के बाहर शव रखकर प्रदर्शन किया था। उन्होंने उचित कार्रवाई की मांग की थी।

सुसाइड नोट में क्या लिखा

मैं विजय कुमार ब्यान करता हूं कि पुलिस कर्मी जिसका नाम रामधारी है और वह डेयरी मोहल्ला का निवासी है। एक दिन जब मैं अपने दैनिक कार्य से घर लौट रहा था तो उसने मुझे गुहाना अड्डे पर रोक लिया और मुझसे बोला तू सट्‌टा खाईवाली का काम करता है। तू मेरे साथ बाइक पर बैठ, मैंने इनकार किया तो वो बोला तुझ पर पिस्टल व चरस का केस लगाकर 10 साल तक अंदर करवा दूंगा। जैसे तेरा भाई सुरेंद्र जेल में अंदर करवाया था।

झूठे केस में फंसाने की कोशिश

मैं डर के मारे उसकी बाइक पर बैठ गया। वह मुझे गौकर्ण पार्क पर ले गया और बोला हर तीन महीने में मुझे 30 हजार रुपए चाहिए। अगर इस बारे में किसी को बोला तो पिस्टल व चरस का केस लगवाकर अंदर डाल दूंगा। मुझसे कई किश्तों में लगभग 4 लाख रुपए वसूल किए। वो इतना शातिर था कि उसने कभी फोन का इस्तेमाल नहीं किया। वो एक लोकेशन पर पैसे लेता व तीन महीने बाद दूसरी लोकेशन बताता।

इस कार्य में सोनू, सुरेश, जग्गे व सरदार उर्फ जुड़ी का हाथ बताया गया था। कुछ साल पहले सोनू, जग्गे, सुरेश ने सरदार उर्फ जुड़ी के हाथों मेरे भाई सुरेंद्र की दुकान में 180 ग्राम चरस रखवाई थी।

केस खत्म करने के लिए 20 हजार रुपए वसूले

इन्होंने रामधारी, बलराज, सीलकराम व अन्य एक पुलिस कर्मचारी से मिलीभगत करके मेरे भाई को जेल भिजवाया था। जग्गे व रामधारी ने केस खत्म करने की एवज में हमसे 20 हजार रुपए वसूले थे। फिर भी उन्होंने चालान काट दिया था। इस पुलिसकर्मी की वजह से सोनू कोरेक्स और चरस का सरेआम काम करता है। जग्गे अवैध शराब का कार्य करता है। सुरेश औप जुड़ी सट्टा खाईवाली का कार्य करते हैं।

Around The Web

Trending News

Latest News

You May Also Like