1. Home
  2. Haryana News

युमनानगर में मां ही निकली एक महीने के बच्चे की कातिल: ब्लेड से काटा था गला

Hatyara maa:

Hatyara maa: यमुनानगर में 12 दिन पहले हुई एक बच्चे की मौत के मामले में दिल दहला देने वाला खुलासा हुआ। पुलिस की जांच में सामने आया की बच्चे की मां ने ही उसकी  हत्या की थी।

एक दिन की रिमांड पर आरोपी महिला

जांच में सामने आया कि महिला का पति बच्चे को अपना खून नहीं मान रहा था। इसी खुंदक में उसने अपने बच्चे का ब्लेड से गला काट दिया। बच्चा इससे नहीं मरा तो उसे जमीन पर पटक कर मौत के घाट उतार दिया। इसके बाद उसके शव को गठरी में बांध दिया। पुलिस ने इस कलयुगी मां को गिरफ्तार कर कोर्ट से एक दिन के रिमांड पर लिया है।

गठरी में बंधा मिला था बच्चा

यमुनानगर की शिवपुरी कॉलोनी में रहने वाले सुमित की पत्नी कोमल ने 2 मार्च को बेटे को जन्म दिया था। 1 अप्रैल की रात बच्चा कोमल व सुमित के साथ सोया था। सुबह उठे तो बच्चा गायब था। सुमित ने पत्नी को पूछा तो उसने कहा कि बच्चा अंदर ही होगा, लेकिन बच्चा वहां नहीं था। बच्चे की तलाश शुरू हुई तो वह एक गठरी में बंधा मिला। उसके नाक, मुंह और कानों में रुई ठूसी हुई थी। गला खून से लथपथ था। बच्चे की बड़ी ही बेरहमी से हत्या की गई थी। बच्चे को किसने मारा, इस पर घर में ही विवाद हो गया। सुमित पत्नी पर और पत्नी अपने सास-ससुर पर आरोप लगा रही थी।

मानसिक रुप से कमजोर है महिला

सुमित का कहना था कि बच्चे को उसकी पत्नी कोमल ने मारा है। पत्नी मेंटली कमजोर है। कई बार वो अपनेपन में नहीं रहती थी। गुस्से में आकर खुद को मारने लग पड़ती थी। दूसरी तरफ, बच्चे की मां कोमल ने कहा कि बच्चा कैसे गायब हुआ, उसके बारे में पता नहीं। उसने दादी सास और ससुर पर शक जताया। क्योंकि इन दोनों का उससे झगड़ा रहता था। वह चाहते नहीं थे कि मैं उनके घर में रहूं। इस बीच बच्चे को 3 अप्रैल को मिट्‌टी (दफनाना) दे दी। 4 अप्रैल को मामला पुलिस तक जा पहुंचा। ड्यूटी मजिस्ट्रेट की मौजूदगी में बच्चे के शव को निकाला और पोस्टमॉर्टम कराया। इसमें बच्चे की हत्या की पुष्टि हुई।

गर्भवती होने के दौरान मायके में थी कोमल

गांधी नगर थाना की पुलिस 10 दिन से मासूम के हत्यारे को सामने लाने के लिए मशक्कत कर रही थी। परिवार व आस-पास के एक-एक सदस्य से पूछताछ की गई। थाना गांधी नगर के SHO महरूफ अली ने रविवार को बताया कि बच्चे की हत्या में उसकी मां कोमल काे गिरफ्तार किया गया है। उसे कोर्ट में पेश कर एक दिन के रिमांड पर लिया गया है।

SHO महरूफ अली के अनुसार, कोमल ने पुलिस पूछताछ में बताया कि जब वह गर्भवती हुई, उस दौरान अपने मायके अधोई में गई हुई थी। ससुराल आकर उसने अपने गर्भवती होने की बात बताई तो पति उस पर शक करने लगा। साफ कह दिया कि पेट में पल रहा बच्चा उसका नहीं है। बात बात पर झगड़ा होने लगा और पति उस पर ताने मारने लगा। वह इससे मानसिक तौर से परेशान रहने लगी। इससे 8वें महीने में ही 2 मार्च को बच्चे का जन्म हो गया।

8 माह में डिलीवरी होने के कारण बच्चा कमजोर था, इसलिए उसे निक्कू वार्ड में रखा गया। 24 मार्च को बच्चे को अस्पताल से छुट्टी मिली और वह उसे लेकर घर चले गए। सुमित बच्चे काे अपनाने को तैयार नहीं था।

कत्ल के रात की कहानी

कोमल इसको लेकर मानसिक परेशानी में थी कि सुमित बच्चे को अपना नहीं रहा है और ताने मार कर उसे कुलटा ठहराने का प्रयास कर रहा है। पुलिस के अनुसार कोमल इससे बहुत गुस्सा थी। 1अप्रैल की रात बच्चा, पति- पत्नी कमरे में सो रहे थे। कोमल आधी रात को उठी। उसने ब्लेड से अपने एक माह के बच्चेलल का गला काट दिया। इसके बाद भी बच्चे की धड़कन बंद नहीं हुई तो उसने बच्चे को जमीन पर पटक दिया। वह तड़प कर मर गया। फिर उसे कपड़े की गठरी में बांध कर छिपा दिया।

Around The Web

Trending News

Latest News

You May Also Like