1. Home
  2. Haryana News

हरियाणा की खेल यूनिवर्सिटी बनेगी AIU का हिस्सा: UGC की मिली मंजूरी, शुरू होंगे नए कोर्स

Khel university

Khel university: हरियाणा खेल विश्वविद्यालय को लेकर भारत का विश्वविद्यालय अनुदान आयोग (UGC) ने बड़ा फैसला लिया है। आयोग ने यूनिवर्सिटी को UGC ग्रांट की मंजूरी दे दी है। यूनिवर्सिटी ग्रांट्स कमीशन के इस फैसले से हरियाणा के खेल विश्वविद्यालय के सभी कोर्सेज अब भारत में होने वाली UPSC, PSC, या SSC जैसी सरकारी नौकरियों और प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए मान्य होंगे। इससे सूबे के साथ ही दूसरे राज्यों के स्टूडेंट्स को बड़े पैमाने पर करियर बनाने का मौका मिल सकेगा। सबसे अहम बात यह भी है कि अब स्पोर्ट्स यूनवर्सिटी में स्पोर्ट्स साइंस में 8 नए ग्रेजुएशन के कोर्स लाने की तैयारी की जा रही है।

Khel university:

यूनिवर्सिटी में ये कोर्स होंगे शुरू

हरियाणा स्पोर्ट्स यूनिवर्सिटी में मनोविज्ञान, पोषण, फिजियोथेरेपी, स्ट्रेंथ एंड कंडीशनिंग, और कोचिंग शुरू होगी। यूनिवर्सिटी के वीसी रिटायर्ड आईपीएस अशोक कुमार ने बताया कि यूनिवर्सिटी में बास्केटबॉल, एथलेटिक्स, हैंडबाल, योगा, वॉलीबॉल, कबड्डी, कुश्ती, लॉन टेनिस, बैडमिंटन, और फुटबॉल की कोचिंग के डिप्लोमा कोर्स शुरू होंगे। यूनिवर्सिटी में अभी बीपीईएस, एमपीईएस, और बॉक्सिंग में डॉक्टरेट डिप्लोमा कोर्स दिए जा रहे हैं।

AIU का हिस्सा बनेगी यूनिवर्सिटी

खेल विश्वविद्यालय अब भारतीय विश्वविद्यालयों के संघ का हिस्सा बनने की तैयारी भी कर रहा है। इससे अखिल भारतीय अंतरविश्वविद्यालयीय खेल प्रतियोगिताओं में भाग लेने और आयोजित करने में सक्षम होंगे। यह विश्वविद्यालय के बीच सहयोग और प्रतिस्पर्धा को बढ़ावा देगा। वीसी अशोक कुमार ने बताया कि हरियाणा में खेल को यूनिवर्सिटी नए स्तर पर ले जाएगी। इसके साथ ही यूनिवर्सिटी कैंपस में खिलाड़ियों और कोचों को सभी सर्वोत्तम अवसर और सुविधाएं दी जा रही है।

Khel university:

एक महीने पहले VC बने थे उत्तराखंड के पूर्व डीजीपी

हरियाणा के सोनीपत में राई स्थित प्रदेश के पहले खेल विश्वविद्यालय में उत्तराखंड के रिटायर्ड पुलिस महानिदेशक (DGP) आईपीएस अशोक कुमार कुलपति नियुक्त किए गए थे। उन्होंने 1 मार्च को विश्वविद्यालय में अपना कार्यभार संभाला था। वह 20 नवंबर, 2023 को उत्तराखंड में डीजीपी के पद से सेवानिवृत्त हुए थे। राई खेल विवि के पहले कुलपति एसएस देशवाल ने कुछ दिन पहले इस्तीफा दे दिया था।

कुलपति नियुक्त किए गए अशोक कुमार पानीपत के गांव कुराना के मूल निवासी हैं। उनकी उच्च शिक्षा सोनीपत के हिंदू महाविद्यालय से हुई है। कुलपति बनाए गए अशोक कुमार राष्ट्रपति अवार्ड से सम्मानित हो चुके हैं।

वह तीन साल तक बीएसएफ में तो एक साल तक सीआरपीएफ में भी सेवाएं दे चुके हैं। 1989 बैच के आईपीएस अशोक कुमार को उत्तर प्रदेश कैडर मिला था। वर्ष 2000 में उत्तराखंड राज्य का गठन होने पर वह वहां चले गए।

Around The Web

Trending News

Latest News

You May Also Like