1. Home
  2. Haryana News

Haryana News: हरियाणा में कांग्रेस उम्मीदवार जेपी की बढ़ सकती है मुश्किलें: इनकम और आपराधिक रिकॉर्ड छिपाने का आरोप, चुनाव आयोग से शिकायत

haryana news


Haryana News: हरियाणा की हिसार लोकसभा सीट से कांग्रेस कैंडिडेट जयप्रकाश उर्फ जेपी की मुश्किलें बढ़ सकती है। जयप्रकाश उर्फ जेपी पर आपराधिक रिकॉर्ड छिपाने और इनकम की गलती जानकारी देने के आरोप लगे है। जेपी के किलाफ अंबाला के वकील राज महक ने चुनाव आयोग को शिकायत भेजी है।

अपनी 9 पेज की शिकायत में राज महक ने कहा कि जयप्रकाश ने अपने एफिडेविट में कहा है कि उनके खिलाफ कोई भी आपराधिक मामला पेंडिंग नहीं है। यह बात सरासर गलत है। वर्ष 2004 में जयप्रकाश ने चुनाव लड़ते समय खुद के खिलाफ 5 आपराधिक मामले कोर्ट में विचाराधीन होने की बात कही थी। जब इन तथ्यों को जांचा गया तो सामने आया कि यह सभी मामले आज भी कोर्ट में पेंडिंग हैं।


शपथ पत्र में आपराधिक रिकॉर्ड NIL लिखा

वकील राज महक का कहना है कि जयप्रकाश ने हिसार में नामांकन पत्र दाखिल करते समय अपना आपराधिक रिकॉर्ड NIL बताया है जबकि जयप्रकाश पर धोखाधड़ी, साजिश रचने, धमकाने और लड़ाई-झगड़े के साथ आर्म्स एक्ट में केस दर्ज हैं। इस तरह के अपराध छिपाना गैर कानूनी है।

जयप्रकाश पर हिसार जिले के बरवाला थाने में वर्ष 2002 में एफआईआर नंबर 265 में धारा 148, 149, 427, 448, 395, 397, 506 और 452 के तहत केस दर्ज है। इसके अलावा कैथल के पुंडरी थाने में भी गंभीर धाराओं के तहत केस दर्ज है।

आय से संबंधित जानकारी भी गलत देने के आरोप
वकील राज मलिक का कहना है कि इसी प्रकार जयप्रकाश ने अपने आय से संबंधित जानकारी भी गलत दी है। जयप्रकाश ने अपने फार्म में 2022-23 और 2023-24 में एक समान 11 लाख 72 हजार आय दर्शाई है। साथ ही अपनी धर्मपत्नी की वर्ष 2016-17 की आय भी नहीं दिखाई। इसके अलावा भी जयपक्राश ने शपथ पत्र में कई जानकारियां छिपाई हैं। इसलिए उनका नामांकन पत्र रद्द किया जाए।

वकील का इलेक्शन ऑफिसर को भेजा लेटर...


देवीलाल के ग्रीन बिग्रेड के कमांडर थे जेपी
जयप्रकाश पूर्व मुख्‍यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा के करीबी नेताओं में हैं। जयप्रकाश कांग्रेस के जिला अध्‍यक्ष भी रहे हैं। जय प्रकाश कभी पूर्व उपप्रधानमंत्री ताऊ देवीलाल की ग्रीन ब्रिगेड के कमांडर हुआ करते थे। चौधरी देवीलाल ने ही वर्ष 1989 में जेपी को हिसार लोकसभा क्षेत्र से चुनाव लड़ाया और जीतने के बाद केंद्र में मंत्री बनवाया। करीब एक दशक तक वह चौटाला परिवार से जुड़े रहे। फिर चौटाला परिवार से मतभेद के चलते भूपेंद्र सिंह हुड्डा के कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष रहते कांग्रेस में एंट्री की।

जयप्रकाश 3 बार हिसार से सांसद रह चुके हैं। जयप्रकाश पहली बार 1989 में वीपी सिंह की सरकार में पेट्रोलियम राज्य मंत्री रहे। हरियाणा विकास पार्टी में 1996 और 2004 में कांग्रेस के टिकट पर जीत चुके हैं। जेपी चौधरी देवीलाल की लोकदल पार्टी से पहली बार सांसद बने थे और इसके बाद हरियाणा विकास पार्टी में भी शामिल हुए। वे बरवाला और कलायत से विधायक भी रह चुके हैं।


 

Around The Web

Trending News

Latest News

You May Also Like