1. Home
  2. Haryana News

Haryana News: हरियाणा में विधायकों की संख्या हुई 88, BJP उम्मीदवार रणजीत सिंह चौटाला का विधायक पद से इस्तीफा मंजूर, मंत्री बने रहेंगे

ch ranjeet singh

Haryana News: हिसार लोकसभा सीट से भाजपा उम्मीदवार रणजीत सिंह चौटाला का MLA पद से इस्तीफा मंजूर हो गया है। मंगलवार को स्पीकर ने रणजीत सिंह का इस्तीफा तुरंत स्वीकार कर लिया। 

रणजीत सिंह के इस्तीफे के बाद रानियां विधानसभा सीट खाली हो गई है। लेकिन इसके बाद भी रणजीत सिंह सैनी सरकार में कैबिनेट मंत्री बने रहेंगे।

वे बिजली और जेल मंत्री बने रहेंगे। बता दें कि 24 मार्च को बीजेपी में शामिल होने से पहले ही उन्होंने रानियां हलके की सदस्यता से इस्तीफा दे दिया था। उन्होंने अपने मैसेंजर के जरिए विधानसभा अध्यक्ष को इस्तीफा भेजा था।
 
कानूनी सलाह लेने के बाद स्पीकर ने रणजीत को व्यक्तिगत तौर पर विधानसभा में बुलाया था। उन्हें 23 अप्रैल को आना था लेकिन निजी कारणों के चलते वे नहीं आ सके। इसके बाद उन्हें 30 अप्रैल को बुलाया गया। मंगलवार को विधानसभा पहुंचे रणजीत सिंह ने स्पीकर के सामने इस्तीफे पर किए अपने हस्ताक्षर सत्यापित किए।

 स्पीकर के पूछने पर उन्होंने यह भी कहा कि उन्होंने किसी भी तरह के दबाव या प्रलोभन में इस्तीफा नहीं दिया है। इसके बाद स्पीकर ने उनका इस्तीफा मंजूर कर लिया। यह दूसरी बार है जब रणजीत सिंह ने इस्तीफा दिया है।

 इस बार उन्होंने इस्तीफा बीजेपी टिकट पर हिसार से लोकसभा चुनाव लड़ने की वजह से दिया है। लगभग 35 साल पहले उन्होंने 1989 में भी विधानसभा की सदस्यता से इस्तीफा दिया था। उस समय उन्हें राज्यसभा भेजा गया था। इसी के चलते उन्होंने अपनी सीट खाली की थी।

मंत्री पद से नहीं दिया इस्तीफा
रणजीत सिंह ने कहा कि सभी तकनीकी बातों को ध्यान में रखते हुए विधायक पद से इस्तीफा दिया है। मंत्री पद से मैंने इस्तीफा नहीं दिया है। लोकसभा चुनाव परिणाम के बाद तय होगा कि आगे क्या निर्णय करना है। वहीं स्पीकर ज्ञान चंद गुप्ता ने कहा कि रणजीत छह महीने तक बिना विधायक रहे मंत्री बने रह सकते हैं।

अब 88 रह गए विधायक नब्बे सदस्यों वाली हरियाणा विधानसभा में अब 88 विधायक रह गए हैं। इनमें बीजेपी के 40, कांग्रेस के 30, जेजेपी के 10, छह निर्दलीय, सिरसा से हलोपा के गोपाल कांडा और ऐलनाबाद से INLD के एक विधायक अभय सिंह चौटाला शामिल हैं। अब इसकी सूचना विधानसभा सचिवालय द्वारा चुनाव आयोग को भेजी जाएगी।

अगले कुछ दिनों में रानियां सीट के रिक्त होने का नोटिफिकेशन भी जारी हो जाएगा। प्रदेश में करनाल के बाद अब रानियां दूसरी सीट है, जो खाली हुई है। पूर्व सीएम मनोहर लाल खट्टर के इस्तीफे की वजह से 13 मार्च से ही करनाल सीट खाली है। हालांकि चुनाव आयोग ने लोकसभा के साथ ही करनाल सीट पर उपचुनाव की घोषणा की हुई है।


 

Around The Web

Trending News

Latest News

You May Also Like