1. Home
  2. Haryana News

फतेहाबाद: सरकार के खिलाफ किसानों का प्रदर्शन, विधायक को दिखाए काले झंडे

Fatehabad bjp boycott:

Fatehabad bjp boycott:सरकार की ओर से बेशक हरियाणा के विकास को लेकर बड़ी बड़ी बातें की जा रही हो, लेकिन अभी भी सरकार को किसानों के विरोध का सामना करना पड़ रहा है। रतिया के गांव चनकोठी में विधायक लक्ष्मण नापा को ग्रामीण दौरे के दौरान किसान संगठनों के विरोध का सामना करना पड़ा।

किसानों ने विधायक को दिखाए काले झंडे

किसान संगठनों से जुड़े लोगों ने गांव में एकजुट होकर विधायक के गांव में आगमन पर विरोध जताते हुए उन्हें काले झंडे दिखाए तथा भाजपा सरकार और विधायक के खिलाफ जोरदार नारेबाजी की। हालांकि किसानों द्वारा विरोध करने की सूचना मिलने के चलते प्रशासन द्वारा सदर थाना प्रभारी ओमप्रकाश बिश्नोई के नेतृत्व में विधायक के आने से पूर्व ही भारी पुलिस बल तैनात कर दिया था।

बीजेपी के कार्यक्रमों का किया विरोध

आपको बता दें कि, किसान संगठनों ने दो दिन पूर्व बैठक कर रतिया में 5 अप्रैल को मुख्यमंत्री आगमन का विरोध करने का निर्णय लेते हुए कहा था कि गांव में भी भाजपा के कार्यक्रमों का विरोध किया जाएगा।

5 अप्रैल को रतिया में सीएम की रैली

रविवार को जब रतिया विधायक लक्ष्मण नापा लोकसभा सिरसा उम्मीदवार अशोक तंवर के समर्थन में वोट मांगने तथा मुख्यमंत्री नायब सिंह सैनी की 5 अप्रैल की रतिया रैली के न्योते को लेकर ग्रामीण दौरे के तहत गांव चनकोठी में पहुंचे तो उसी दौरान भारतीय किसान यूनियन एकता उगराहां हरियाणा के ब्लॉक अध्यक्ष गुरलाल सिंह के नेतृत्व में अनेकों किसान एकजुट हो गए और गांव में विधायक लक्ष्मण नापा के आने पर काले झंडे दिखाते हुए विरोध करना शुरू कर दिया।

फसलों के मुआवजे के लिए तरस रहे किसान

किसानों ने कहा कि बाढ़ में किसानों की फसलों का नुकसान हुआ। हरियाणा सरकार ने बाढ़ ग्रस्त इलाकों में फसलों, बाढ़ के कारण घरों की मरम्मत और बाढ़ के कारण खराब हुए ट्यूबवेल की मरम्मत करने के लिए मुआवजा देने का वादा किया था। परंतु मुआवजा मात्र 12 प्रतिशत किसानों को मुआवजा दिया गया तथा बाकी 88 प्रतिशत किसान पिछले 6 महीने से मुआवजे को तरस रहे हैं।

Around The Web

Trending News

Latest News

You May Also Like