1. Home
  2. Haryana News

देर न करें, घर बैठे वोटर ID बनवाने का लास्ट चांस, ECI ने जुड़े 6 ऐप की ले जानकारी

Loksabha voter:

Loksabha voter:इस बार से के लोकसभा चुनाव में चुनाव आयोग की ओर से घर से वोट देने की विशेष सुविधा देने की कोशिश की गई है। ऐसे में हरियाणा में घर बैठकर वोटर बनने का चुनाव आयोग लास्ट चांस दे रहा है। राज्य का 18 साल का कोई युवा या युवती अपना वोट बनवाना चाहता है, तो वह votes.eic.in पर ऑनलाइन आवेदन कर सकता है। यह सुविधा केवल तब तक है, जब तक कि लोकसभा चुनाव के लिए नामांकन प्रक्रिया शुरू नहीं हो जाती।Loksabha voter:

29 अप्रैल से शुरू नामांकन प्रक्रिया

प्रदेश में नामांकन प्रक्रिया 29 अप्रैल से आरंभ होगी और 6 मई तक जारी रहेगी। इसके अलावा आयोग की ओर से ऐसे 6 ऐप भी शुरू किए गए हैं, जिनका लोग घर बैठकर लाभ उठा सकेंगे।

घर बैठकर नामांकन कर सकेंगे प्रत्याशी

ऑनलाइन नामांकन पत्र दाखिल करने के लिए भी निर्वाचन आयोग ने कैंडिडेट नॉमिनेशन के नाम से एक ऐप बनाया है। कोई भी प्रत्याशी इस ऐप का प्रयोग कर अपने आवेदन को इस ऐप पर ऑनलाइन दर्ज करवा सकता है। इसमें ऑनलाइन भुगतान के माध्यम से अपनी जमानत राशि जमा करने का विकल्प प्रदान किया गया है। एक बार आवेदन दर्ज होने के बाद कैंडिडेट सुविधा ऐप का प्रयोग कर अपने आवेदन की आगामी कार्रवाई पर नजर रख सकते हैं।

एनकोर में कैंडिडेट की पूरी जानकारी

रिटर्निंग अधिकारियों (RO) के लिए आयोग ने एनकोर के नाम से एक सॉफ्टवेयर तैयार किया है। इसमें उम्मीदवारों का आवश्यक डेटा फीड रहता है। उम्मीदवारों की संपत्ति के विवरण को देखने के लिए आयोग ने शपथ पत्र पोर्टल बनाया है। इस ऐप पर किसी उम्मीदवार की चल-अचल संपत्ति, हलफनामे को ऑनलाइन देखा जा सकता है। इसी प्रकार बूथ ऐप के माध्यम से मतदाताओं की डिजिटल पहचान करने की सेवा शुरू की है।

ऐसे डाउनलोड करें मतदाता पर्ची

मतदाता वोटर हेल्पलाइन ऐप को अपने ईपीआईसी कार्ड से जोड़कर अपनी मतदाता पर्ची को डाउनलोड कर सकते हैं। वोटर टर्नआउट ऐप में कुल जनसंख्या के अनुपात में बने वोटों की संख्या को देखा जा सकता है। वोटर पोर्टल व वोटर हेल्पलाइन ऐप मतदाताओं को अपना डेटा देखने की सुविधा प्रदान करते हैं।

दिव्यांगजनों के लिए PWD ऐप

दिव्यांगजनों की सुविधा के लिए आयोग ने PWD ऐप आरंभ किया है। इस ऐप का प्रयोग कर दिव्यांगजन अपने नाम, मतदाता पहचान पत्र आदि की जांच कर सकता है। आयोग की वेबसाइट पर इन सभी ऐप के बारे में विस्तार से जानकारी प्रदान की गई है। इसी प्रकार निर्वाचन आयोग ने सी-विजिल के नाम से एक नया ऐप शुरू किया है।

इस मोबाइल ऐप को डाउनलोड कर कोई भी नागरिक आदर्श आचार संहिता की कहीं अवहेलना हो रही है तो उसकी फोटो या वीडियो बनाकर अपनी शिकायत भेज सकता है, जिसका निवारण निर्वाचन कार्यालय की ओर से 100 मिनट में किया जाएगा।

Around The Web

Trending News

Latest News

You May Also Like