1. Home
  2. Haryana News

बेटे का टिकट कटने पर फूटा चौधरी बीरेंद्र सिंह का गुस्सा: कहा अब CM की रेस में शामिल मेरा बेटा

Birendra singh:

Birendra singh: हरियाणा कांग्रेस से पूर्व सांसद बृजेंद्र सिंह की टिकट कटने को लेकर पूर्व केंद्रीय मंत्री चौधरी बीरेंद्र सिंह ने बड़े खुलासे किए हैं। उन्होंने कहा, 'ईमानदारी से कहता हूं जिस दिन बृजेंद्र को टिकट नहीं मिली तब मेरे पास बड़े से बड़े BJP नेताओं के (नाम नहीं लेता) फोन आए। मुझसे कहा कि वैसे माड़ी (बुरी) बात हुई है।

टिकट कटने की ये छोटी घटना है

मैंने कहा कि करना के है, माड़ी हुई हो या अच्छी हुई हो, मेरे साथ इससे भी माड़ी-माड़ी बात हुई है। मेरा जब मुख्यमंत्री बनने का नंबर आया तो मेरे वाले ही कहते हैं कि इसको हराएंगे, हराएंगे। मेरे नेता राजीव गांधी नहीं रहे।' बीरेंद्र ने कहा, 'मैं यह बात इसलिए कह रहा हूं कि टिकट कटने की ये छोटी घटना है। बृजेंद्र सिंह की टिकट कटने से बड़ी घटनाएं मेरे जीवन में हो चुकी हैं। BJP को देखे लें। ये कहते हैं कि हमारे लिए तो कार्यकर्ता सबसे जरूरी है। नेता भी कार्यकर्ता, हमने कहा कि वाह भाई वाह।

मुझे 5 साल हो गए, हम अब भी नेता नहीं बने। ये भी एक कारण था। मैंने कहा कि छोड़ो बेटा, लोग हमारे साथ चले हैं, लाइन की लाइन चले हैं। मैंने तो करके दिखा दिया। न झंडा और न डंडा। जींद की मीटिंग में करके दिखा दिया कि ये जो लोग हैं, जो हमारे साथ चलने वाले हैं।'

विधानसभा चुनाव लड़ने के संकेत दिए

हिसार से बेटे बृजेंद्र को कांग्रेस का टिकट न मिलने के बाद बीरेंद्र सिंह ने रविवार को जींद में समर्थकों की मीटिंग बुलाई थी। यहां बीरेंद्र सिंह ने इशारों-इशारों में हरियाणा से विधानसभा चुनाव लड़ने के संकेत दिए हैं। उन्होंने कहा है, 'मैं CM नहीं बन पाया तो क्या हुआ, मेरा बेटा अब CM की दौड़ में शामिल हो गया है।' बीरेंद्र सिंह कह चुके हैं कि पूर्व CM भूपेंद्र हुड्डा के बड़े भाई जोगिंद्र के निधन पर बड़ी संख्या में पूरे देश से बड़े नेता आए थे। तब चौधरी रणबीर सिंह ने कहा था कि लोग कहते थे क्या रणबीर सिंह कभी CM नहीं बन पाएगा। आज देखो मेरा बेटा प्रदेश का CM है।

बीरेंद्र ने कहा- सभी नेताओं को साथ ले परिवर्तन करेंगे

बीरेंद्र सिंह ने कहा कि चंडीगढ़ का रास्ता NH152D जींद से होते हुए जाता है। वह कांग्रेस पार्टी में भूपेंद्र हुड्डा, रणदीप सुरजेवाला, कुमारी सैलजा और किरण चौधरी सभी को एक साथ लाकर देश और प्रदेश में सत्ता परिवर्तन करेंगे। भाजपा को लेकर बीरेंद्र सिंह ने भविष्यवाणी की कि 400 पार का नारा देने वाले 200 सीट भी नहीं जीत पाएंगे।

बीरेंद्र सिंह ने कहा कि वह 10 साल भाजपा में रहे। भाजपा में शामिल होते हुए उन्होंने सोचा था कि कांग्रेस और भाजपा की विचारधारा में थोड़ा बहुत फर्क होगा। 10 साल में वह इस बात को जान गए कि कांग्रेस की सोच किसान, मजदूर और देश को मजबूत करने की है। भाजपा की सोच जाति और धर्म के नाम पर जनता को बांटकर केवल सत्ता में रहने की है।

बृजेंद्र बोले- यह हमारे लिए सीख

इसी दौरान बृजेंद्र ने कहा, 'मुझे पूरी उम्मीद थी कि टिकट मिलेगी। मैं हिसार से सिटिंग MP था। किन्हीं कारणों से टिकट नहीं मिली। वह कारण दिल्ली के नहीं बल्कि प्रदेश की राजनीति की है।'

बृजेंद्र ने कहा कि हरियाणा की राजनीति में बहुत बड़ा बदलाव होने वाला है। समय के साथ सबको पता चल जाएगा। लोगों के सामने बहुत सी चीजें समय के साथ उजागर होंगी। मेरे राजनीति में 5 साल आसानी से निकले। मैं राजनीतिक तौर पर परिपक्व नहीं आया। यह हमारे लिए सीख है।

टिकट कटने से पूर्व सांसद के उग्र तेवर

भाजपा छोड़ कांग्रेस में शामिल होने वाले सर छोटूराम के परिवार ने हिसार सीट पर दावा ठोका था। कांग्रेस ने वहां से उन्हें टिकट नहीं दी। उनकी जगह पूर्व मंत्री जयप्रकाश जेपी को उम्मीदवार बना दिया गया। पूर्व मंत्री बीरेंद्र सिंह के बेटे बृजेंद्र सिंह का दर्द इसको लेकर सामने आ चुका है। बीरेंद्र सिंह ने कहा है कि कांग्रेस कहे या कैंडिडेट मदद मांगे तो मैं प्रचार करूंगा, लेकिन कांग्रेस के लिए वोट मांगूगा।

 

Around The Web

Trending News

Latest News

You May Also Like